तन्हाई भरी यादें

ऐसा मेरे साथ पहले कभी नहीं हुआ था,इतनी बेताबी मैंने इससे पहले किसी के लिए नहीं देखी थी।सब कुछ अच्छा चल रहा था, वो अचानक से बातें करना बंद कर दी,2 दिन तक कोई msg,कोई phone कॉल नहीं,मुझे घबराहट होने लगी थी।

                           इससे पहले हमारे बीच ऐसी कोई बात भी नहीं हुई थी जिससे वो गुस्सा हो,कोई झगड़े भी नही हुए थे। फिर भी बात करनी बंद हो गयी थी,यही सोच-सोच कर मैं परेशान हो गया था।मैंने उससे बहुत contact करने की कोशिश की, पर नहीं हो पा रही थी,वो मेरी अब तक की लड़कियों में सबसे अच्छी दोस्त थी,2 दिनों तक बात न होने के कारण मैं बहुत ही परेशान सा हो गया था।ये 2 दिन मेरी ज़िन्दगी के 2 महीने लग रहे थे।बड़ी ही मुश्किल से मेरे ये 2 दिन बीते थे।मैं उसे बहुत miss कर रहा था,उसके पुराने msg को पढ़ता, मुस्कुराता, और मैं उसे हमेशा झाड़ू,बर्तन करने वाली ही कह कर बुलाता था,जिससे वो थोड़ी प्यार भरी गुस्सा करती और मुझे भी कुछ-कुछ कह दिया करती थी।मैं इन सारे चीज़ों को बहुत miss कर रहा था।
 मेरा वो बार-बार phone चेक करना, कहीं कोई msg, कोई call तो नहीं आया। 

                          वो रात में अक्सर 11 बजे online आया करती थी,मैं 10:30 के बाद से फ़ोन अपने सामने ही रखता था,की कब कोई msg आ जाये।मेरी बेचैनी बढ़ती जा रही थी,जबकि वो मेरी बस 1 अच्छी फ्रेंड ही थी। लेकिन अब दिल ये मानने को तैयार नहीं था कि वो मेरी बस 1 फ्रेंड है,हमारे बीच कुछ तो था जिसके कारण मैं इतना बेताब होता जा रहा था,इससे पहले मैंने अपने अंदर किसी के लिए भी इतनी 'पागलपन' नहीं देखी थी

DEVRAJ AGAIN FALL IN LOVE BUT AS A FRND


दोस्त और LOVER में बहुत बड़ा फर्क है,
“Lover” कहता है अगर तुम्हें कुछ हो गया।
 तो मैं जी नही पाऊँगी,जबकि दोस्त कहता है;
पागल मेरे रहते हुए तुम्हे कुछ नहीं हो सकता ।।


                      जो भी हो लेकिन वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त थी।बात न होने की वजह से मैं मायूस था,तीसरा दिन-मैं कॉलेज में था,मेरा exam चल रहा था,मैं जैसे ही exam hall से निकला, मैंने फ़ोन देखी,पर उसमें भी पहले की तरह कोई msg या कोई call न मिली।मैं कॉलेज कैंपस में ही बैठा हुआ था की अचानक से msg आयी 'sorry' ये msg देखकर मेरे चेहरे पर बहुत ही प्यारी भरी smile आयी, पर मुझे उसके 2-दिन न होने का गुस्सा भी आ रहा था पर गुस्से से  कहीं ज्यादा प्यार था, उसके msg को देखकर ऐसा मानो जैसे रेगिस्तान में फूल खिले गए हों।ये msg किसी और का नहीं बल्कि उसी लड़की की थी जिसके लिए मैं इतना बेताब था।फिर मैंने उसके 2 दिन बात न होने की वजह पूछी,तो पता चला की उसकी फ़ोन ख़राब हो गयी थी,और वो घर के कामों में इतनी फँसी हुई थी की किसी दूसरे के फ़ोन से भी कॉल नही कर पाई,उसके घर पर बहुत सारे guest आये हुए थे।पर अब मैं खुश था कि वो वापस आ गयी,फिर मैंने उसे अपने इस 2 दिन के बारे में बताया कि मैंने कैसे ये 2-दिन , 2-महीने की तरह बिताये,same condition उधर भी थी,उसे भी घर के किसी कामों में मन नहीं लगता था ,वो भी सोचती रहती थी की कब उसको थोड़ा भी टाइम मिले और atleast 2min. भी मुझसे बात कर सके। वो भी बहुत बेचैन थी।

                          उसकी ये बातें सुनकर मेरी आँखें नम हो गयी,आँखों से ख़ुशी के आँशु छलकने को आ रहे थे। कोई तो है जो मुझे इतनी miss करती है,और अब फिर से हमदोनों में बातें start हो गयी,फिर से वही मस्ती,वही प्यार,दोनों के द्वारा एक-दूसरे की बेज़्ज़ती।

                       💖💖DEVRAJ💖💖
उसके साथ रहते रहते हमे चाहत सी हो गयी,
उससे बात करते करते हमे आदत सी हो गयी,
एक पल भी न मिले तो न जाने बेचैनी सी रहती है,
दोस्ती निभाते निभाते हमे "मोहब्बत" सी हो गयी।।



र ये "Mohabbat" नहीं हमारी दोस्ती है।।

Sirf Lovers Hi Nhi Hote
Jo ek Dusre Ko Khona Ni Chahte
Kuch Hum Jaise Bhi Hote Hain
Jin Ki Jaan "Doston" Mein Hoti Hai


Comments

  1. the content looks good .But i could be best if you put language convert since many people can not know that language

    ReplyDelete
    Replies
    1. There are also available in English.u can easily read this.And thank u so much to visit my page.

      Delete

Post a Comment

Popular posts from this blog

तेरे प्यार का दीवाना हो गया।।