अब तो गिर गया खुद के नज़रों में ..

मैं किसी से प्यार करता हूँ, पर उसे अपना Past बताने से डरता हूँ। बहुत कोशिस की बताने की, पर हर बार हिम्मत साथ छोड़ जाती थी। ऐसी कोई बात नहीं जो मैं उसे नहीं बताता हूँ, अपनी लाइफ की हर बात उससे Share करता हूँ, हाँ पर कुछ बात है जो बताने से मैं डरता हूँ। पता होता है कि मेरी कहानी बताने से वो नाराज़ हो जाएगी, गुस्सा करेगी, पर फिर भी न जाने क्यों उससे सारी बात शेयर करने को जी चाहता है। प्यार में बेकरार, ऐतबार, इंतज़ार, बेताबी ये सब बस मैं यूँ ही लफ़्ज़ों में सुना करता था, पर हकीकत में उसे feel करने का अंदाज़ ही अलग है। अब तो सारा ज़माना भी मुझे तुम्हारे नाम से जानने लगा है, मैं तुमपे ओर सिर्फ तुमपे मरता हुँ ये उनको भी लगने लगा है।

आजतक किसी भी लड़की के लिए मेरी आँखों में आँशु का एक कतरा तक नहीं आया पर तेरे लिए ऐसा बहुत बार हुआ है, oyee सुन...... तू मेरे लिए अब खास नहीं बल्कि बहुत खास है।



कभी कभी किसी इंसान की बस एक गलती उसके  सारे किए-धराए पर पानी फेर देती है, बस उसकी एक गलती उसे खुद के नज़रों में गिरा देती है। किसी महापुरुष ने कहा था कि कोई लाख अच्छा कर ले, खुद को कितना भी क्यों न बदल ले,औऱ उससे बस एक गलती हो जाए तो लोग उसके सारी अच्छाइयों को भूल कर बस उसकी वही गलतियों को याद रखता है।

मैं तो बस ये चाहता था कि मेरे life से related हर चीज़ उसे पता हो, बस मेरी यही गलती किसी को इतनी तकलीफ देगी मुझे इस बात का अंदाज़ा तक नहीं था।
sorry तुझे ये तकलीफ जाने-अनजाने में मेरे वजह से हुई। लेकिन तुझे यूँ तकलीफ देने का मेरा कोई इरादा नहीं था।

माना की दूरियाँ कुछ बढ़ सी गयीं हैं,लेकिन तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तन्हा गुजरता है.

                      **DEVRAJ**



Comments

RESHMA KUMARI said…
To bata do year...

Popular posts from this blog

तन्हाई भरी यादें